‘अगर आप मानते हैं कि अन्याय हो रहा है तो आपको लड़ना ही होगा’ : मेधा पाटकर


रोहित जोशी
December 28, 2017

‘उत्तराखंड महिला सम्मेलन’ में प्रतिभाग करने हल्द्वानी पहुंची, ‘नर्मदा बचाओ आंदोलन’ की मशहूर एक्टिविस्ट मेधा पाटकर ने उत्तराखंड में प्रस्तावित 311 मीटर ऊंचाई वाले दुनिया के दूसरे सबसे ऊंचे बांध ‘पंचेश्वर बांध’ पर ‘समाचार’ के साथ बात की.

भारत और नेपाल का सीमांकन करने वाली महाकाली नदी पर प्रस्तावित इस कथित ‘बहुउद्देशीय विकास परियोजना’ की ऊर्जा क्षमता 5040 मेगावॉट बताई जा रही है. इस परियोजना से दोनों ही देशों के 150 से अधिक गांव डूब जाने हैं और तकरीबन 30 हज़ार से अधिक आबादी को प्रभावित होना है.

महाकाली और सहायक नदियों की घाटियों में बसे समुदायों की ओर से इस परियोजना का विरोध जारी है. मेधा ने बांध का विरोध कर रहे संगठनों के साथ अपनी एकजुटता जाहिर की है और उन्हें एक संदेश दिया है.

देखें मेधा के साथ ‘समाचार’ की बातचीत-

Please follow and like us:
रोहित जोशी

स्वतंत्र पत्रकार, संपर्क : rohit.versatile@gmail.com