गांधी जयंती पर कुछ खास


mm
राजीव लोचन साह
October 2, 2018

ये कुछ चित्र नैनीताल से पाँच किमी दूर स्थित ताकुला गाँव के हैं, जहाँ वर्ष 1929 व 1931 में महात्मा गांधी मेरे नाना गोविन्द लाल साह सलमगढ़िया के अतिथि रहे थे। इन चित्रों में किसी में बापू मेरे नाना के साथ टहलते दिखाई दे रहे हैं तो कहीं जन सामान्य का अभिवादन करते। एक अखबारी कटिंग में 1929 में निकले तल्लीताल के नया बाजार में उनके जुलूस का चित्र है तो एक और कटिंग में उनके 1931 के दौरे का विवरण। एक फोटो में वे गांधी मंदिर का शिलान्यास करते दिख रहे हैं। गांधी मंदिर शायद दुनिया का एकमात्र भवन होगा, जिसका शिलान्यास भी बापू ने किया और फिर दुबारा आने पर उसमें निवास भी किया।


यह दौर गांधी को याद करने का तो नहीं है, एक होड़ लगी है कि अपनी स्मृति और विरासत को खारिज़ करो। नये-नये भ्रम प्रतिष्ठापित किये जा रहे हैं। मैं पहली बार इन चित्रों को ‘नैनीताल समाचार’ की वैब पत्रिका में साझा कर रहा हूँ।

 

mm
राजीव लोचन साह